. “जब अमेरिका में लाइट जाती है तो वे पावर ऑफिस में फोन करते हैं। जब जापान में लाइट जाती है, तो फ्यूज चेक करते हैं। और जब अपने भारत में लाइट जाती है तो सबसे पहले बाहर निकल कर देखते हैं कि सबकी गई है न… फिर राहत की सांस लेते हैं।”


Loading
0 0