. “शीशे में डूब कर पीते रहे उस ‘जाम’ को कोशिशें तो बहुत की मगर, भुला न पाए एक ‘नाम’ को ।”


Loading
0 0